शनिवार, 4 सितंबर 2010

मनरेगा में महिलाओं की भागीदारी बहुत कम

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य के बड़े क्षेत्र में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी (मनेरगा) योजना के तहत महिलाओं की भागीदारी काफी कम होना स्वीकार करते हुए दावा किया है कि इस वर्ष 10 लाख परिवारों को 100 दिन का रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा। इस रणनीति का मुख्य उद्देश्य अत्यंत वंचिग वर्ग के पांच लाख परिवारों और पांच लाख महिला जॉबकार्ड धारकों अर्थात 10लाख वंचितों को चिन्हित करते हुए इन्हें 100 दिन का रोजगार वित्तीय वर्ष 2010-11 में उपलब्ध कराना है।
यह जानकारी राज्य के ग्राम्य विकास सचिव मनोज कुमार सिंह ने दी। सिंह ने बताया कि मनेरगा के तहत बुंदेलखंड व विंध्याचल के जिलों को छोड़कर राज्य के अन्य क्षेत्रों में योजना के तहत महिलाओं की भागीदारी निर्धारित 33 फीसदी से बहुत कम है। इस कारण राज्य के 26 जिलों में यह प्रस्तावित किया गया है कि कम से कम पांच लाख महिला जॉबकार्ड धारकों को चिन्हित कर उन्हें योजना के तहत काम पर आने के लिए प्रोत्साहित किया जाए।

प्रदेश में पंचायत चुनाव 11 से 25 अक्तूबर तक

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव चार चरणों में 11 से 25 अक्तूबर तक कराए जाएंगे। प्रदेश निर्वाचन आयोग के कार्यक्रम को राज्य सरकार ने गुरूवार देर रात अपनी मंजूरी दे दी। कार्यक्रम के अनुसार पहले चरण का चुनाव 11 अक्तूबर को होगा जिसके लिए नामांकन 23 से 25 सितम्बर तक भरा जाएगा।
दूसरे चरण का मतदान 14 अक्तूबर को होगा जिसके लिए नामांकन 26 से 28 सितम्बर तक दाखिल किया जाएगा। तीसरे चरण का मतदान 20 अक्तूबर को निर्धारित किया गया है जिसके लिए नामांकन 30 सितम्बर से शुरू होगा और यह तीन अक्तूबर तक चलेगा। चौथे और अंतिम चरण के नामांकन की प्रक्रिया चार से छह अक्तूबर तक चलेगी और चुनाव 25 अक्तूबर को होगा।
पहले और दूसरे चरण में हुए मतदान की मतगणना 28 अक्तूबर को और तीसरे तथा अंतिम चरण के चुनाव की मतगणना 30 अक्तूबर को होगी। निर्वाचन आयोग ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का कार्यक्रम पिछले 23 अगस्त को राज्य सरकार को भेजा था। पंचायती राज विभाग ने देर रात कार्यक्रम को मंजूरी दे दी। अब इसे मंत्रिमंडल की औपचारिक मंजूरी मिलनी बाकी है।
किस जिले में किस चरण में चुनाव होगा इसे निर्वाचन आयोग तय करेगा। चुनाव की अधिसूचना आगामी 17 सितम्बर को जारी की जाएगी। निर्वाचन आयोग के सूत्रों ने शुक्रवार को कहा कि चुनाव की सभी तैयारी पूरी कर ली गई है। सभी जिलों को आवश्यक निर्देश और चुनाव सामग्री भेज दी गई है।
ग्राम प्रधान के साथ ही ग्राम पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य और जिला पंचायत सदस्य के भी चुनाव कराए जा रहे हैं। लगभग डेढ़ महीने तक चलने वाली चुनाव प्रक्रिया में 51 हजार 921 ग्राम प्रधान, छह लाख 41 हजार 441 ग्राम पंचायत सदस्य, 63 हजार 701 जिला पंचायत सदस्य और दो हजार 622 जिला पंचायत सदस्यों का चुनाव होगा।